CAA | CAB Kya hai hindi mein bataen | नागरिकता संशोधन बिल

CAA | CAB Kya hai hindi mein bataen | नागरिकता संशोधन बिल

cab kya hai hindi me jane

CAB यानि नागरिकता संशोधन बिल के तहत नागरिकता अधिनियम 1955 में कुछ बड़े बदलाव किये गये हैं। इस बिल के पास हो जाने के बाद आप इसे नये नागरिकता कानून की शक्‍ल में हम इसे देखेंगें।

नागरिकता संशोधन बिल के पास होकर कानून बन जाने के बाद अफगानिस्‍तान, पाकिस्‍तान तथा बांग्‍लादेश से आने वाले हिंदुओं, सिक्‍खों, बौद्धों, ईसाईयों तथा पारसियों तथा जैनियों को भारत में आसानी से देश की नागरिकता मिलने का रास्‍ता खुल गया है।

लेकिन इस बिल की सबसे खास बात यह है कि नये नागरिकता (संशोधन) बिल CAB से मुस्लिम धर्म को मानने वाले लोगों को बाहर रखा गया है। यही कारण है कि इसका असम, त्रिपुरा, मणिपुर आदि राज्‍यों में इसका पुरजोर विरोध किया जा रहा है।

नागरिकता कानून के विरुद्ध देश के कई राज्यों में विरोध प्रदर्शन हो रहे हैं. इस विरोध प्रदर्शन की शुरुआत पूर्वोत्तर भारत के असम से हुई. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने संशोधित नागरिकता कानून (सीएए) के विरुद्ध देश भर में हो रहे हिंसक प्रदर्शनों को दुर्भाग्यपूर्ण और बेहद निराशाजनक करार दिया.

CAA (Citizenship Amendment Act)

मोदी सरकार ने पहले लोकसभा और फिर राज्यसभा में विपक्षी पार्टियों के विरोध के बीच नागरिकता संशोधन बिल (Citizenship Amendment Bill) यानी सीएबी यानी कैब (CAB) को मंजूरी दिलाने में सफलता हासिल की. इसके बाद राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद की मंजूरी मिलते ही इस बिल ने कानून की शख्स ले ली और नागरिकता संशोधन कानून (Citizenship Amendment Act) यानी सीएए (CAA) बन गया.

 

Add Comment